देहरादून, जानकारी, नक्शा और दर्शनीय स्थल

देहरादून के बारे मे जानकारी

देहरादून उत्तराखंड का एक जिला है साथ ही ये राज्य की राजधानी भी है, यह नगर पालिका बोर्ड द्वारा संचालित है, जिसमे मेयर , जिलाधिकारी और एक वरिष्ठ पुलिश अधिकारी होता है, इसकी आबादी २०११ के अनुसार ६ लाख के आसपास है और जनसंख्या घनत्व २००० व्यक्ति प्रतिवर्ग किलोमीटर है।

यह नगर हिमालय की दून घाटी की तलहटी में है और इसके एक पूर्वी तरफ गंगा नदी है और पश्चिमी तरफ जमुना नदी है, यहाँ से मसूरी पास है, और यहाँ पर कई राष्ट्रीय स्तर के ट्रेनिंग केंद्र है जिनमे, इंडियन मिलेट्री अकादमी, इंडो तिब्बत बॉर्डर पुलिस अकादमी, इंदिरा गाँधी फारेस्ट अकादमी इत्यादि।

देहरादून नगर की नगर की स्थपना किसने की, ये एक यक्ष प्रश्न है, कुछ लोगो का मानना है की इसका नाम द्रोणाचार्य के नाम पर हस्तिनापुर नरेश ने महात्मा भीष्म के आग्रह पर रखा था, परंतु एक नयी कहानी सिखों से जुडी हुयी भी है, इसके अनुसार ये गुरूद्वारे का अपभ्रंस रूप है, यानि की १८१८ में यहाँ पर गुरु अर्जुनदेव जी ने डेरा डाला था, तो वही डेरा कालांतर में देहरा बन गया और ये एक दूं घाटी था इसलिए वो डेरा का देहरा और दून मिला कर बन गया देहरादून, ये है देहरादून के स्थापना के सम्बन्ध की कहानी.

देहरादून का नक्शा

देहरादून का नक्शा गूगल मैप पर

देहरादून शहर दर्शनीय स्थल

देहरादून में बहुत से दर्शनीय स्थल है जिनमे टपकेश्वर मंदिर ‘यह मंदिर सिटी बस स्टेंड से 5.5 कि॰मी॰ की दूरी पर गढ़ी कैंट क्षेत्र में एक छोटी नदी के किनारे बना है।’, राजाजी राष्ट्रिय पार्क ‘1966 में स्थापित यह पार्क 820.42 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में फैला हुआ है। शिवालिक रेंज में स्थित इस पार्क में स्तनधारी जानवरों की 23 प्रजातियां हैं। इसका नाम श्री सी राज गोपालाचारी जैसी विशिष्ट शख्सियत के नाम पर रखा गया है जिन्हें लोग प्यार से राजा जी कहकर बुलाते थे’, गुच्छुपानी गुफा ‘हरिद्वार-ऋषिकेश मार्ग पर लच्छीवाला-डोईवाला से 3 कि॰मी॰ और देहरादून से 22 कि॰मी॰ दूर है। सुंदर दृश्यावली वाला यह स्थान पिकनिक-स्पॉट है’, मालसी डियर पार्क ‘मालसी डियर पार्क एक छोटा सा चिड़ियाघर है जहां बच्चों के लिए प्राकृतिक सौंदर्य से घिरा एक पार्क भी विकसित किया गया है’

इसके अलाबा भी बहुत से दर्शनीय पर्यटन स्थल है जैसे गुरु रामराय दरबार, संतौला देवी मंदिर, लक्ष्मण सिद्ध, चन्द्रबाणी या चंद्रबनी, साई दरबार, तपोवन, महान स्तूप , बुद्ध की मूर्ति, आसन कंजर्वेशन रिजर्व, कलंगा स्मारक, कालसी और भागीरथ रिज़ार्ट।

Leave a Reply

Your email address will not be published.