पलवल, जानकारी, नक्शा और दर्शनीय स्थल

पलवल के बारे मे जानकारी

पलवल आज़ादी में अपना अहम भूमिका रखता है। यहाँ राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की पहली राजनीतिक गिरफ्तारी हुई थी। नेताजी सुभाषचंद्र बोस ने पलवल में अपने हाथों से एक कमरे बनवाने के लिए नींव रखी। महात्मा गांधी और नेताजी सुभाषचंद्र बोस के साथ आज़ादी की लड़ाई में पलवल के स्वतंत्रता सेनानियों ने महत्त्वपूर्ण योगदान दिया था। महात्मा गांधी के साथ पलवल के लाला गोबिंदराम बेधड़क, दीपचंद सत्याग्रही, लल्लू भाई पटेल, लक्ष्मीनारायण, लछमन दास बंसल, योगेंद्र पाल भारती, लाला भनुआमल मंगला ने आज़ादी की लड़ाई में सहयोग किया था। उन्होंने गांधीजी के साथ जेल यात्राएं भी कीं। 9 अप्रैल 1919 को पंजाब में गांधी जी ऐंट्री पर बैन लगा दिया लेकर पंजाब के सेक्रेटरी ने आदेश जारी कर दिए थे। 10 अप्रैल को जैसे ही महात्मा गांधी पलवल रेलवे स्टेशन पहुँचे तो उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। गांधी जी ने पंजाब में प्रवेश न करने का ब्रिटिश सरकार का आदेश मानने से इनकार कर दिया था। मथुरा के बाद पलवल पहला स्टेशन था, जहाँ ट्रेन को रोककर गांधी जी को गिरफ्तार किया गया। यहाँ से गिरफ्तार कर गांधी जी को मुंबई ले जाकर छोड़ दिया गया।

पलवल का नक्शा

पलवल का नक्शा गूगल मैप पर

 

पलवल शहर के दर्शनीय स्थल

भगवान परशुराम मंदिर, Jangeshwar मंदिर, दाउ जी मंदिर, देवी मंदिर, पंचवटी मंदिर, जैन मंदिर, बाबा Udash नाथ मंदिर, भूरा गिरि मंदिर, शिव मंदिर 4, श्री कृष्ण Tample, हनुमान मंदिर, हरि बोल मंदिर, पहाड़ी वाला मंदिर, Rujhani गुरुद्वारा , तिकोना पार्क, Shradhananda पार्क, डी पार्क, टंकी वाला पार्क, ताऊ देवीलाल पार्क, Dashera ग्राउंड पार्क, हुदा पार्क, गांधी पार्क आदि

Leave a Reply

Your email address will not be published.